28.1 C
India
सोमवार, जून 14, 2021

Elon musk | इतने प्रसिद्ध क्यों हैं?

- Advertisement -
- Advertisement -

19वीं सदी के महान वैज्ञानिक निकोला टेस्ला के नाम से शुरू हुई ई-कार कंपनी और उसके संस्थापक Elon Musk Twitter के साथ ही पूरी दुनिया में इतने प्रसिद्ध क्यों हैं?

गज़ब की कल्पना और व्यक्तित्व के मालिक Elon Musk और उनकी कई सारी कंपनी के बारे में जानने के लिए इस पोस्ट को धैर्य के साथ पूरा पढ़िये, हम कोशिश करेंगे कि Elon Musk से जुड़े हर सवाल का जवाब आपको यहां मिल सके। इस वजह से पोस्ट थोड़ी विस्तृत है तो धैर्य के साथ पूरा पढ़े !!

Elon Musk का जन्म दक्षिण अफ्रीका के प्रिटोरिया में सन 1971 में हुआ था। जब वे 10 साल के थे तभी से उन्हें प्रोग्रामिंग में दिलचस्पी थी तो उसी विषय में अपनी पढ़ाई जारी रखी और 12वें वर्ष में ब्लास्टर नाम का गेम Code बना लिया था। और मज़े कि बात कि सिर्फ बनाया ही नहीं बल्कि उसे 500$ में एक गेमिंग कंपनी को बेच भी दिया।

1989 में कनाडा में उन्होने Queen विश्वविद्यालय में दो साल पढ़ाई की तब वह 17 साल के थे। 1992 में अमेरिका के पूर्वोत्तर में स्थित पेनसिल्वेनिया राज्य से भौतिकी और अर्थशास्त्र में डिग्री हासिल करने के बाद California विश्वविद्यालय में Phd के लिए आवेदन किया। इसके बाद 1995 में भाई Kimbl musk के साथ मिल कर Online city Guide करने वाली zip2 कॉर्पोरेशन स्थापित की। आगे 1999 में Compaq computer की कंपनी उन्होने खरीद ली XCOM / Pay pal

उसी पैसे से Elon Musk ने 1999 में Online financial services और Email पेमेंट करने वाली कंपनी स्थापित की। एक साल बाद ये कंपनी Confinity नाम के कंपनी के साथ जुड़ गई जो Money ट्रांसफर सिस्टम Provide करने लगी।

SpaceX की स्थापना कैसे हुई थी?

2002 में पूरी दुनिया में अंतरिक्ष का कौतूहल पैदा करने वाली कंपनी SpaceX स्थापित की, Elon के इस प्रोजेक्ट के बारे में एक पूरी किताब लिखी जाए तो भी कम है, एक प्राइवेट कंपनी इतना कुछ कर सकती हैं, यह देख कर दुनिया हैरान है। इसकी शुरुआत का भी गजब किस्सा है।

Intercontinental Ballistic Missile (ICBM) के USE किये हुए पार्ट को दोबारा दुरुस्त करके International Space Station (ISS) को Paylod पहुंचाया जा सकता हैं ऐसा आइडिया लेकर वो पहुँचते हैं Moscow ICBM खरीदने के लिए। वहाँ भी वह कामयाब हुए और 3 ICBM USA ले आए। इस काम में उनके साथ वैज्ञानिकों की एक टीम थी जिसमें थे Mike Griffin, Jim Cantrell और Adeo Ressi जैसे कामयाब लोग।

उसी साल वो फिर वापस रूस जाते हैं। क्योंकि  वहाँ की एक कंपनी ने उन्हें एक पुराना Rocket बेचने का ऑफर दिया था। थोड़ा महंगा था लेकिन Elon ने रिस्क लेते हुए उसे भी खरीद लिया। उन्हें सिर्फ ISS को ही कामयाब नहीं करना है बल्कि उनका सपना तो मंगल पर कॉलोनी विकसित करने का है। अपने यहां तो भूल जाइए अमेरिका में भी इतने दूर की बात कौन सोचता है? और फिर ऐसे स्थापित हुआ SpaceX  ये पूरी दुनिया में पहली ऐसी प्राइवेट कंपनी हैं जिसका Rocket Booster >Satellite Orbit में जाकर वापस धरती पर लौट आता हैं। इसीलिए SpaceX को Satellite लांच करना सस्ता पड़ता हैं।

Elon की तारीफ़ इसलिए भी ज्यादा की जाती हैं, कि उन्हें इस फील्ड का न तो ज्ञान था और न ही कोई अनुभव। गौरतलब रहे कि इसके लिए उन्होने बहुत मेहनत भी की। नासा के रिटायर्ड वैज्ञानिकों को इकठ्ठा किया, खूब किताबें पढ़ी, दिन-रात मेहनत की तब जाकर SpaceX का नाम आज पूरी दुनिया में स्थापित हुआ है।

SpaceX के माध्यम से अब मंगल पर मानव भेजना संभव हो रहा हैं Falcon1 से शुरू हुआ यह सफ़र अब बहुत दूर तक पहुंच गया हैं।

Falcon9 Falcon Havy starship Crue dragon etc.

Starling नामक एक जबरदस्त प्रोजेक्ट SpaceX द्वारा शुरुआत की गई थी जो Internet via Satellite को जोड़ेगा उसमे 1200 Satellite लॉन्च होने वाले है।

Tesla

टेस्ला की शुरुआत 1 जुलाई 2003 को Mark Trapping और Martin Eberhart ने की थी। जिस में कुछ ही महीनों बाद Elon Musk ने एंट्री ली। वो जानते थे कि आने वाला समय इलेक्ट्रिक का होगा। भविष्य इलेक्ट्रिक ऑटोमोबाइल का हैं। यह जानते हुए Elon ने अपना SpaceX पर काम चालू कर दिया था। और फिर Tesla में $6.5M इन्वेस्ट कर दिया। E-Car बनाते समय High Performance और Low Mileage ही सबसे अहम थी ये बात वो जानते थे। 2008 में बाजार में उन्होंने टेस्ला का पहला मॉडल पेश किया।

Roadstar

इस में Lithium Ion बैटरी का इस्तेमाल करके एक चार्जिंग में 420km 60mph Speed in 3.7 second में दौड़ने वाली पहली कार दुनिया को दी। टेस्ला का नया मॉडल फुल्ली ऑटोमैटिक हैं X,3, S सेमीट्रिक Cybertruckect है। टेस्ला की दूर की सोच यह हैं कि भविष्य में E-Car सस्ते भाव में Large Scale पर बननी चाहिए इसलिए टेस्ला का भारत में आना ECar को बढ़ावा देने वाला है।

Solarcity

Elon Musk ने एक और Sustainable  Enargy प्रोजेक्ट 2016 में लॉन्च किया था। जिसमें सिर्फ Solar cell से Enrgy  तैयार ही नही की जाएगी बल्कि घरों के छतों दीवारों में सोलर प्लेट लगाई जाएगी, और यह कामयाब रहा तो विद्युत क्षेत्र में बहुत बड़ी क्रांति हो जाएगी।

Boring

मेट्रो शहरों की भाग-दौड़ देख कर दिल-दिमाग ऊब सा जाता है, महंगा होता पेट्रोल व डीज़ल और साथ ही खर्च होता कीमती समय तो इस को ध्यान में रख कर Elon Musk ने एक उपाय खोज निकाला।

मतलब कि धरती के अंदर Tunel  बना कर उसके अंदर कार चलाना चाहते हैं यानि उसमें ऐसे Track बनाये जाएंगे जिसमें कार के टायर को लॉक कर दिया जाएगा और फिर कार दौड़ेगी 150-200kmph की रफ़्तार से तो 1घंटे की दूरी मात्र 15 min में तय की जा सकती है। है न गजब का आइडिया!

Elon Musk कहते हैं दुनिया ऐसे कंप्यूटर बनाने पर काम कर रही है जो खुद निर्णय ले सके। लेकिन जब वो अपने हदों से बाहर जाने लगेंगे तब लोग क्या करेंगे? भविष्य में Ai से लाखों नौकरियों जा सकती हैं इसलिए वो इसे सपोर्ट नही करते। जब कंप्यूटर ही मानव को कंट्रोल करने लगे तो उस समय क्या उपाय किया जा सकता हैं। Nuralink प्रोजेक्ट में एक माइक्रो चिप मानव के ब्रेन में डाली जा जाएगी जो पूरी तरह से ऑटोमैटिक होगी वो आपकी बौद्धिक क्षमता को बढ़ाएगी जिससे आप Ai कंप्यूटर को मात दे सकते हैं।

Hyperloop

इस प्रोजेक्ट के प्रथम खोजकर्ता खुद Elon Musk हैं दुनिया के सामने 2012 में वो इस प्रोजेक्ट को सामने लाये थे। इस में Low pressure tube से Pods के मदद से रेसिस्टेन्स कम कर के कम से कम 1000 -1200 km ph गति से लोगो को अपनी मंजिल तक कैसे पहुंचाया जा सकता हैं। Sustainable Energy का प्रयोग कर के इसे जल्द ही विकसित किया जाएगा। इसलिए उन्होंने 2019 में एक प्रतियोगिता आयोजित की थी। एशिया से पहली मद्रास टीम सेलेक्ट हुई हैं।

Elon Musk on Twitter

हाल ही में Elon Musk Twitter पर कहना है कि वह ‘कुछ समय के लिए’ ट्विटर से दूर हो रहे हैं। Tesla व SpaceX के Ceo ने कहा कि मंगलवार 3 फरवरी से वह कुछ समय के लिए ट्विटर से हट जाएंगे। Musk ने स्पष्ट नहीं बताया कि वे यह अंतराल क्यों ले रहे हैं।

- Advertisement -

Latest Article

Related post

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here