38.1 C
Delhi
DownloadsHindi Booksपढ़िये - कश्मीर और कश्मीरी पण्डित

पढ़िये – कश्मीर और कश्मीरी पण्डित

जरूर पढ़े!

Blogger DG
Blogger DG
जो धर्म डराए, जो किताब भ्रम पैदा करे, उसमें शिद्दत से सुधार की जरूरत है!

Kashmir aur Kashmiri Pandit (कश्मीर और कश्मीरी पण्डित) – बसने और बिखरने के 1500 साल पुस्तक Kashmir के उथल-पुथल भरे इतिहास में कश्मीरी पण्डितों के लोकेशन की तलाश करते हुए उन सामाजिक-राजनैतिक प्रक्रियाओं की विवेचना करती है।

Kashmir aur Kashmiri Pandit – किताब में क्या है?

400 पृष्ठ की यह पुस्तक हिन्दी में जिसका प्रकाशन 1 जनवरी 2020 को किया गया था।

यह पुस्तक बताती है कि Kashmir में इस्लाम के उदय, धर्मान्तरण और Kashmiri Pandit की मानसिक-सामाजिक निर्मिति तथा वहाँ के मुसलमानों और पण्डितों के बीच के जटिल रिश्तों में परिणत हुईं।

साथ ही, यह पुस्तक आज़ादी की लड़ाई के दौरान विकसित हुए उन अन्‍तर्विरोधों की भी पहचान करती है जिनसे आज़ाद भारत में कश्मीर, जम्मू और शेष भारत के बीच बने तनावपूर्ण सम्बन्धों और इस रूप से कश्मीर घाटी के भीतर पण्डित-मुस्लिम सम्बन्धों ने आकार लिया।

सन 1990 के दशक में पंडितों के विस्थापन के लिए ज़िम्मेदार परिस्थितियों की विस्तार से विवेचना करते हुए यह पुस्तक विस्थापित पंडितों के साथ ही उन Kashmiri Pandit से संवाद स्थापित करती है जिन्होंने कभी कश्मीर नहीं छोड़ा, और उनके वर्तमान और भविष्य के आईने में कश्मीर को समझने की कोशिश करती है।

“आप कश्मीर का ‘क’ लिखिये तुरन्त कोई ‘प’ लेकर आ जायेगा। मानो कश्मीर में जितना कुछ हो रहा है, या होगा सब पंडितों के नाम पर जस्टिफाई किया जा सकता है”!

~अशोक कुमार पाण्डेय

कश्मीर नामा के लेखक ने इसे भी लिखा है!

Kashmir aur Kashmiri Pandit : Basne Aur Bikharne Ke 1500 Saal के लेखक वही ‘Ashok Kumar Pandey’ हैं जो ‘Kashmirnama’ के भी लेखक है। यहां आपको बताते चलें कि ‘कश्मीरनामा’ पुस्तक जो बुद्धिजीवियों और आम पाठकों दोनों वर्ग में समान रूप से सराही गई, और बेस्ट सेलर किताबों में पहला नम्बर पा चुकी है। कश्मीर और कश्मीरी पण्डित इनकी दूसरी पुस्तक है।

कश्मीर और कश्मीरी पंडित के लेखक का परिचय

भारत के पूर्वी उत्तर प्रदेश के मऊ ज़िले के सुग्गी चौरी गांव में 24 जनवरी, 1975 को जन्मे अशोक कुमार पाण्डेय जी कश्मीर के इतिहास और उस काल पर विशेषज्ञता हासिल कर अपनी ख़ास पहचान बना चुके हैं। शैक्षिक योग्यता गोरखपुर विश्वविद्यालय से पूरी करने के उपरांत अशोक जी अब कविता, कहानी और अन्य कई विधाओं में लेखन के साथ अनुवाद कार्य भी कर रहे हैं।

कहानी एक किताब की | कश्मीर और कश्मीरी पंडित

क्या आपने इसे ऐसे ख़ोजा है?

  • Kashmir aur kashmiri pandit book pdf free download
  • कश्मीर और कश्मीरी पंडित किताब pdf download

तो मित्र, हर चीज़ मुफ्त में नहीं मिलती। लेखक की मेहनत को समझते हुए, ससम्मान पुस्तक का किंडल संस्करण (हिन्दी) या पेपर बैक (हिन्दी) संस्करण यहां से खरीदिए।

- Advertisement -

More articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -